Saturday, February 14, 2015

एक प्रेम गीत --फूलों में रंग रहेंगे


चित्र -पेंटिंग -गूगल से साभार 



एक प्रेमगीत 
फूलों में रंग रहेंगे ....

जब तक 
तुम साथ रहोगी 
फूलों में रंग रहेंगे ,
जीवन का 
गीत लिए हम 
हर मौसम संग रहेंगे |

जब तक 
तुम साथ रहोगी 
मन्दिर में दीप जलेंगे ,
उड़ने को 
नीलगगन में 
सपनों को पंख मिलेंगे ,
तू नदिया 
हम मांझी नाव के 
धारा के संग बहेंगे |

जब तक 
तुम साथ रहोगी 
एक हंसी साथ रहेगी ,
मुश्किल 
यात्राओं में भी 
खुशबू ले हवा बहेगी ,
जब तक 
यह मौन रहेगा 
अनकहे प्रसंग रहेंगे |


तुमसे ही 
शब्द चुराकर 
लिखते हैं प्रेमगीत हम ,
भावों में 
डूब गया मन 
उपमाएं हैं कितनी कम ,
तोड़ेंगे 
वक्त की कसम 
तुमसे कुछ आज कहेंगे |
चित्र -गूगल से साभार 

13 comments:

  1. सार्थक प्रस्तुति।
    --
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल रविवार (15-02-2015) को "कुछ गीत अधूरे रहने दो..." (चर्चा अंक-1890) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    पाश्चात्य प्रेमदिवस की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ...
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  2. आदरणीया मोनिका जी और शास्त्री जी आप दोनों का हृदय से शुक्रिया |

    ReplyDelete
  3. वेलेंटाइन दिवस पर सुन्दर रचना...सार्थक प्रस्तुति...

    ReplyDelete
  4. बहुत सुंदर प्रेम गीत ...

    ReplyDelete
  5. प्रेमदिवस पर प्यारा सा गीत।

    ReplyDelete
  6. बहुत सुंदर प्यारा सा कोमल प्रेम गीत है.....


    ReplyDelete
  7. सुन्दर, मनभावन गीत ...
    ~सादर शुभकामनाएँ !!!

    ReplyDelete
  8. आदरनीय भाई बाण भट्ट जी आशा जी नीर जी शशि जी और अनीता जी आप सभी का हार्दिक आभार

    ReplyDelete
  9. बहुत ही सुंदर और मनभावन पंक्तियां।

    ReplyDelete
  10. प्यारा सा कोमल प्रेम गीत है.....

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणी हमारा मार्गदर्शन करेगी। टिप्पणी के लिए धन्यवाद